रहन-सहन

गुरु पूर्णिमा के इस अवसर पर परम आदरणीय गुरु दूधनाथ सिंह जी और निर्मला जी को सादर नमन !

गुरु पूर्णिमा के इस अवसर पर परम आदरणीय गुरु दूधनाथ सिंह जी और निर्मला जी को सादर नमन !
कर्ता करे न कर सके , गुरु करे सब होय ! सात द्वीप नव खंड में गुरु से बड़ा न कोय !! आज गुरु पूर्णिमा है आज हम जहाँ भी, जैसे भी हैं जहाँ भी खड़े हैं इसका श्रेय हमारे परम आदरणीय गुरु दूधनाथ सिंह जी और निर्मला जी को जाता है जिनका स्नेह, अपनत्व और जीवन जीने का मंत्र जो मेरे जीवन की हर मुश्किल को आसान ही नहीं समाधान भी करता है जब कुछ  नहीं सूझता तब आप दोनों याद आते हैं गुरु पूर्णिमा के इस अवसर पर आप दोनों को शत शत नमन !

Leave a Reply

Close