अपना गांवपहला पन्नाराष्ट्रीय

जींद में महापंचायतः कंडेला में महापंचायत लाइव

जिस कंडेला में 19 साल हुआ सबसे चर्चित आंदोलन, वहां लगेगा आज किसानों का जमावड़ा, राकेश टिकैत के अलावा कई खाप नेता भी शामिल होंगे

 

चंडीगढ़
कंडेला में 19 साल पहले हरियाणा का सबसे चर्चित आंदोलन हुआ था. आज एक बार उसे दोहराने की कोशिश की जा रही है.
भारतीय किसान यूनियन (ठज्ञन्) के नेता राकेश टिकैत केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन के समर्थन में आज हरियाणा के जींद जिले में किसानों की महापंचायत में शामिल होंगे. सर्वजातीय कंडेला खाप के प्रमुख टेकराम कंडेला ने बताया कि कार्यक्रम के लिए जींद के कंडेला गांव में पर्याप्त व्यवस्था की गयी है. टिकैत के अलावा कई खाप नेता भी इसमें शामिल होंगे. कंडेला ने कहा कि किसानों के आंदोलन का समर्थन करने के लिए यह बड़ा जमावड़ा होगा. किसानों की इस महापंचायत के जरिए किसान आंदोलन को धार देने की कोशिश की जा रही है.
बता दें कि करीब दो दशक पहले हरियाणा में किसानों का आंदोलन चलाने वाली कंडेला खाप ने कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों को अपना समर्थन दिया है. दूसरी खाप ने भी आंदोलन का समर्थन किया है. जींद में दो जगहों गांव कंडेला और खटकड़ टोल प्लाजा दो पर टिकैत का कार्यक्रम रखा गया है. राकेश टिकैत खटकड़ टोल प्लाजा पर बांगर एरिया के लोगो को संबोधित करेंगे और कंडेला गांव में महापंचायत को संबोधित करेंगे. इस महापंचायत में हरियाणा भर से खापें और किसान नेता जुटने की उम्मीद जताई जा रही है.

गौरतलब है की जब टिकैत भावुक हुए थे तो कंडेला गांव के लोगो ने जींद चंडीगढ़ हाईवे जाम कर दिया था जिसके बाद पूरे हरियाणा भर से किसान आंदोलन को समर्थन मिला था और बड़ी संख्या में लोग दिल्ली की सीमाओं पर पहुंच गए थे. टेकराम कंडेला ने कहा कि बुधवार के कार्यक्रम में कृषि कानूनों को निरस्त करने और न्यूनतम समर्थन मूल्य पर कानूनी गारंटी की मांग की जाएगी.

बहरहाल, हरियाणा के भाकियू नेता गुरनाम सिंह चढूनी हिसार जिले के उकलाना में सूरेवाला चौक पहुंचे और किसानों को संबोधित किया. उन्होंने छह फरवरी को किसान यूनियनों द्वारा आहूत राष्ट्रव्यापी चक्का जाम का समर्थन करने को कहा. चढूनी ने किसानों के आंदोलन के मुख्य स्थलों में से एक गाजीपुर में प्रवेश रोकने के लिए बड़े-बड़े अवरोधक लगाए जाने की आलोचना की.

किसान आंदोलन के पक्ष में भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत कुछ ही देर बाद जींद में आयोजित महापंचायत में पहुंचेंगे। उम्मीद जताई जा रही है कि जींद में किसान आंदोलन को लेकर कोई नई रणनीति बनाई जाएगी। यदि भीड़ उम्मीद से अधिक आई तो आंदोलन की रूपरेखा मंच से ही सुनाई जाएगी। नहीं तो आंदोलन की रणनीति के बारे में बाद में लोगों को बताया जाएगा।

कंडेला खाप के ऐतिहासिक चबूतरे पर टिकैत के लिए चाय-नाश्ते का प्रबंध किया गया है। वहीं महापंचायत खेल स्टेडियम में होगी। इस दौरान वाहनों की पार्किंग के लिए तीन एकड़ में व्यवस्था की गई है। टिकैत के स्वागत के लिए ग्रामीणों ने कई क्विंटल फूल मंगवाए हैं। पहले महापंचायत गांव के बीच स्थित कंडेला खाप के ऐतिहासिक चबूतरे पर की जानी थी लेकिन भीड़ अधिक होने की संभावना के चलते सात एकड़ में बने खेल स्टेडियम को चुना गया है।

कंडेला खाप के प्रधान टेकराम कंडेला ने बताया कि महांपचायत में भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत, महासचिव युद्धवीर सिंह, किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी, पंजाब से नेता लबीर सिंह राजेवाल, रतन सिंह मान, चौधरी जोगेंद्र सिंह मान के अलावा हरियाणा की सभी खाप पंचायतें, तपे, बारहा के अलावा पंजाब, उत्तर प्रदेश व राजस्थान के किसान हिस्सा लेंगे।

राकेश टिकैत पहले कंडेला और फिर खटकड़ टोल पर चल रहे धरना स्थल पर लोगों को संबोधित करेंगे। देर रात राकेश टिकैत ने कहा कि लोनी विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने आंदोलन के दौरान सामान और कंबल भिजवाए थे।

Related Articles

Leave a Reply

Close