महानगरराष्ट्रीय राजधानी दिल्ली

वरिष्ठ पत्रकार उमाकांत लखेड़ा एक बार फिर ‘प्रेस क्लब ऑफ इंडिया के अध्यक्ष चुने गये

उल्टी पड़ गई सब तदबीरे॔....

चौथा अक्षर संवाददाता
नई दिल्ली

प्रेस क्लब ऑफ इंडिया के चुनाव में  उमाकांत लखेड़ा पैनल की शानदार जीत। क्लब के सभी पांच पदाधिकारी और प्रबंध समिति के सभी 16 सदस्य इस पैनल के ही भारी बहुमत से चुनाव जीते। ’गोदी मीडिया’ और आइटी सेल भी सदमे में!

देश में पत्रकारों की सबसे बड़ी संस्थाओं में से एक ‘प्रेस क्लब ऑफ इंडिया’ के पदाधिकारियों के चयन के लिए 21 मई 2022 को हुए चुनावों के परिणाम घोषित हो गए हैं। 22 मई को घोषित हुए इन परिणामों के मुताबिक, वरिष्ठ पत्रकार उमाकांत लखेड़ा एक बार फिर ‘प्रेस क्लब ऑफ इंडिया’ के अध्यक्ष चुने गए हैं। उन्हें 898 वोट मिले, जबकि इस पद पर उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी संजय बसक को 638 वोट मिले।

इसके अलावा उपाध्यक्ष पद पर मनोरंजन भारती चुने गए हैं, उन्हें 887 वोट मिले, जबकि इस पद के लिए उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी पवन कुमार को 578 वोट मिले। सचिव के पद पर विनय कुमार ने 823 वोटों के साथ जीत दर्ज की है, जबकि उनकी निकटतम प्रतिद्वंद्वी पल्लवी घोष को 668 और संदीप ठाकुर को 165 वोट मिले।

वहीं, संयुक्त सचिव की बात करें तो इस पद पर स्वाति माथुर ने जीत हासिल की है। उन्हें 870 वोट मिले, जबकि इस पद के लिए उनकी प्रतिद्वंद्वी लक्ष्मी देवी आरे को 536 और जोगिंदर सोलंकी को 244 वोट मिले। कोषाध्यक्ष पद पर 787 वोटों के साथ चंदर शेखर लूथरा को चुना गया है, जबकि इस पद के लिए उनके निकटम प्रतिद्वंद्वी संतोष ठाकुर को 776 वोट मिले।

16 सदस्यीय प्रबंध समिति के लिए जिन पत्रकारों ने जीत दर्ज की है, उनमें आदेश रावल (823), अमित पांडेय (773), अमृता मधुकल्या (746), अनीस कुमार (727), कृतिका शर्मा (836), मोहम्मद अब्दुल मसूद (618), मानवेंद्र वशिष्ठ (732), मयंक सिंह (735), मोहम्मद मेहताब आलम (637), मिहिर गौतम (741), राहिल चोपड़ा (765), संगीता बरूआ (788), शेमिन जॉय (808), टी श्रीनिवास राव (599), विनायक भूषण (658) औऱ विनीता ठाकुर (807) शामिल हैं।

 

गौरतलब है कि वरिष्ठ पत्रकार दुर्गा दास द्वारा वर्ष 1957 में स्थापित ‘प्रेस क्लब ऑफ इंडिया’ का स्वतंत्रता के बाद देश के इतिहास में महत्वपूर्ण स्थान है। देश में अपनी तरह के सबसे पुराने संगठनों में से एक ‘प्रेस क्लब ऑफ इंडिया’ का नेतृत्व वार्षिक रूप से निर्वाचित एग्जिक्यूटिव निकाय द्वारा किया जाता है। इसमें मैनेजिंग कमेटी के 16 सदस्यों के साथ एक अध्यक्ष, एक उपाध्यक्ष, सचिव, संयुक्त सचिव और ट्रेजरार (कोषाध्यक्ष) शामिल होते हैं।

 

Related Articles

Close