पहला पन्नाबीच-बहसराष्ट्रीय

…और अब एक ऐसे रहनुमा का उदय हो रहा है ! जो बादलों के स्वछ जल से धो रहा है वंशवाद की कालिख़ ….!

पहले वो आप पर ध्यान नहीं देंगे, फिर वो आप पर हँसेंगे, फिर वो आप से लड़ेंगे, और तब आप जीत जायेंगे ...क्या कहना ! बस वाह वाह ही हो रहा है ..! राहुल गांधी

श्याम लाल शर्मा/चौथा अक्षर

         मूसलाधार बारिस में बुरी तरह से भीगते हुए राहुल गांधी का पब्लिक मीटिंग को संबोधित करना यह कहना कि पहले वो आप पर ध्यान नहीं देंगे, फिर वो आप पर हँसेंगे, फिर वो आप से लड़ेंगे, और तब आप जीत जायेंगे …क्या कहना ! बस वाह वाह ही हो रहा है …हैरानी इस बात की नहीं है की राहुल गांधी बारिश में भाषण दे रहे हैं..अद्भुत ये है की लोग बिना बारिश की परवाह किए सुन रहे हैं..वाकई भारत जोड़ो आंदोलन के बीच की यह तसवीर दुनिया की सर्वश्रेष्ठ तसवीर बन गई …कहना ही होगा कि भारत के भावी प्रधानमंत्री की यह तस्वीर जुमलेबाजों की फौज को धरासाई करने के लिए काफी है ….

कांग्रेस की भारत जोड़ों यात्रा कर्नाटक पहुंच चुकी है। कर्नाटक में रविवार 2 अक्टूबर को तीसरा दिन था । रविवार को राहुल गांधी ने नंजनगुड स्थित प्रसिद्ध प्रचीन श्रीकांतेश्वर स्वामी मंदिर में दर्शन किया। इसके बाद उन्होंने शाम को एक मैसूर में एक रैली को संबोधित भी किया। रैली एपीएमसी मैदान में आयोजित की गई थी। राहुल गांधी जब रैली को संबोधित कर रहे थे तभी अचानक से तेज बारिश होने लगी। इसके बावजूद भी राहुल ने अपना भाषण जारी रखा। यहां पर उन्होंने भाजपा और आरएसएस पर जमकर निशाना साधा और केंद्र सरकार के कामकाज को लेकर सरकार का घेराव किया। इसके बाद उन्होंने बारिश के बीच ही कार्यकर्ताओं से मुलाकात भी की। बारिश के बीच राहुल गांधी का वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है।

राहुल गांधी ने ट्वीटर पर वीडियो शेयर किया

राहुल गांधी ने अपने आफिशियल ट्विटर हैंडल पर वीडियो को शेयर किया है और इसके साथ ही उन्होंने लिखा, भारत को एकजुट करने से, हमें कोई नहीं रोक सकता। भारत की आवाज़ उठाने से, हमें कोई नहीं रोक सकता। भारत जोड़ो यात्रा कन्याकुमारी से कश्मीर तक जाएगी, भारत जोड़ो यात्रा को कोई नहीं रोक सकता।

प्यार और भाईचारे की यात्रा है भारत जोड़ो यात्रा -राहुल गांधी

वीडियो में राहुल गांधी को बारिश के बीच रैली को संबोधित करते हुए देखा जा सकता है। जिसमें वह कह रहे हैं कि कर्नाटक में भारत जोड़ो यात्रा पहुंची है। नदी जैसी यात्रा कन्याकुमारी से कश्मीर तक चलेगी। इस नदी में आपको हिंसा, नफरत नहीं दिखेगी। सिर्फ प्यार और भाईचारा दिखेगा। ये यात्रा रुकेगी नहीं। जैसे अभी देखो, बारिश आ रही है, बारिश ने अभी यात्रा को नहीं रोका। गर्मी-तूफान इस यात्रा को नहीं रोकने वाली इस यात्रा का उद्देश्य बीजेपी और आरएसएस जो देश में नफरत फैला रही है, उसके खिलाफ खड़े होने का है।

30 सितंबर को कर्नाटक पहुंची भारत जोड़ो यात्रा

भारत जोड़ो यात्रा 30 सितंबर को कर्नाटक के गुंडलुपेट पहुंची। राहुल गांधी लगातार इस यात्रा का नेतृत्व कर रहे हैं। कांग्रेस की ये यात्रा कर्नाटक के साथ ही एक महत्वपूर्ण चरण में प्रवेश कर गई है, क्योंकि राज्य में अगले साल चुनाव होने हैं और यह पहली बार है जब यात्रा किसी भाजपा शासित राज्य से गुजर रही है।

Related Articles

Close